Homeहलचलअमित जोगी का जाति प्रमाण पत्र रद्द, मरवाही उपचुनाव से पहले लगा...

अमित जोगी का जाति प्रमाण पत्र रद्द, मरवाही उपचुनाव से पहले लगा बड़ा झटका

छत्तीसगढ़। उच्च स्तरीय जांच समिति ने पूर्व मुख्यमंत्री स्व. अजीत जोगी के पुत्र अमित जोगी का जाति प्रमाण पत्र रद्द कर दिया है। इसके साथ ही उनका नामांकन भी निरस्त कर दिया है। मरवाही उपचुनाव में जेसीसीजे अध्यक्ष अमित जोगी के लिये यह बड़ा झटका है। 16 अक्टूर को आदेश की कॉपी जारी की गई थी। ज्ञात हो कि छत्तीसगढ़ की मरवाही विधानसभा सीट अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित है।

अमित जोगी का जाति प्रमाण रद्द क्यों

उच्च स्तरीय जांच समिति ने अमित जोगी को कंवर नहीं माना है। पिता अजीत जोगी का भी जाति प्रमाण पत्र पहले ही रद्द हो चुका था, इसलिए अब अमित जोगी का भी जाति प्रमाण पत्र रद्द कर दिया गया। इससे पहले उनकी पत्नी ऋचा का भी जाति प्रमाण पत्र रद्द किया जा चुका है।

हालांकि, जाति प्रमाण पत्र को निरस्त किए जाने को लेकर जोगी ने आपत्ति जताई है। उन्होंने कहा कि उच्च स्तरीय जाति छानबीन समिति आदिवासी जाति और अनुसूचित जनजाति विकास की तरफ से उन्हें आदेश की कोई कॉपी नहीं दी है। समिति की तरफ से न ही उन्हें जाति प्रमाण पत्र को लेकर अपना पक्ष रखने का समय दिया गया।

पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के निधन से सीट हुई रिक्त

छत्तीसगढ़ की मरवाही विधानसभा से पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी विधायक थे, उनके निधन से यह सीट खाली हो गई है। इस रिक्त विधानसभा सीट के लिये 3 नवंबर और 10 नवंबर को दो चरणों मे उपचुनाव होने हैं। इस सीट के लिए कांग्रेस से डॉ. कृष्णकांत ध्रुव और बीजेपी से डॉ. गंभीर सिंह मैदान में उतर रहे हैं। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ ने एक ही सीट पर परिवार के दो सदस्यों को मैदान में उतारा है। अमित जोगी के साथ-साथ उनकी पत्नी ने ऋचा जोगी ने भी नामांकन भरा था। गौरतलब है कि 16 तारीख नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख थी। स्व. अजीत जोगी से पहले अमित जोगी मरवाही से विधायक थे, उन्होंने  2013 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की टिकट पर रिकॉर्ड मतों से जीत हासिल की थी।

यह भी पढ़ें – कमलनाथ बने कांग्रेस के मध्यप्रदेश चुनाव अभियान का चेहरा, लेकिन दिग्विजय क्यों हुए दूर?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular News

Recent Comments

English Hindi