Homeमजबूर भारतआंध्रप्रदेश: स्कूल खुलने के तीन दिन बाद 262 छात्र कोरोना संक्रमित हुए

आंध्रप्रदेश: स्कूल खुलने के तीन दिन बाद 262 छात्र कोरोना संक्रमित हुए

अमरावती: आंध्रप्रदेश में नौवीं और दसवीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए दो नवंबर को स्कूल पुन: खोले जाने के तीन दिन बाद करीब 262 छात्र कोरोना वायरस से संक्रमित पाये गए। छात्रों के साथ-साथ 160 शिक्षक भी कोरोना वायरस से संक्रमित मिले।

स्कूल शिक्षा आयुक्त वी चिन्ना वीरभद्रदू ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि स्कूल आने वाले छात्रों की संख्या की तुलना में संक्रमित छात्रों का अनुपात चिंताजनक नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक संस्थान में हालांकि कोविड-19 सुरक्षा मानकों का पालन सुनिश्चित करने के लिए हरसंभव कदम उठाए जा रहे हैं।

‘कल (चार नवंबर को) करीब चार लाख छात्र स्कूल पहुंचे। संक्रमित छात्रों की संख्या 262 है, जो चार लाख छात्रों का 0.1 प्रतिशत भी नहीं है। यह कहना सही नहीं है कि स्कूल जाने की वजह से छात्र संक्रमित हुए। – वी चिन्ना वीरभद्रदू (स्कूल शिक्षा आयुक्त)

आंध्रप्रदेश के स्कूल शिक्षा आयुक्त का दावा यह चिंता की बात नहीं

स्कूल शिक्षा आयुक्त का दावा है कि उन्होंने प्रत्येक कक्षा में केवल 15 या 16 छात्र ही उपस्थित रहें ये सुनिश्चित किया है। उनका कहना है कि चिंता की बात नहीं है, आंध्रप्रदेश के शिक्षा विभाग द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के अनुसार, राज्य में नौवीं और दसवीं कक्षा के लिए 9.75 लाख विद्यार्थी पंजीकृत हुए हैं। इनमें से 3.93 लाख विद्यार्थी स्कूल आए, कुल 1.11 लाख शिक्षकों में से 99,000 से अधिक शिक्षकों ने शैक्षिक संस्थानों में विद्यार्थियों को पढ़ाया।

वीरभद्रदु ने बताया कि 1.11 लाख शिक्षकों में से करीब 160 शिक्षक कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं।

उन्होंने कहा कि गरीब विद्यार्थी स्कूल बंद होने से सर्वाधिक प्रभावित हुए हैं क्योंकि ऑनलाइन कक्षाएं उनकी पहुंच से बाहर हैं। स्कूल बंद रहने का असर आदिवासी और ग्रामीण इलाकों की छात्राओं पर भी पड़ेगा क्योंकि पढ़ाई रुकने के बाद उनके अभिभावक उनका बाल विवाह भी कर सकते हैं। वीरभद्दू का कहना है कि उनके लिए विद्यार्थी और शिक्षक, दोनों का ही जीवन महत्वपूर्ण है। आंध्र प्रदेश में नौवीं, दसवीं तथा इंटरमीडिएट कक्षाओं के लिए सभी सरकारी स्कूल और कॉलेज दो नवंबर से पुन: खुल गए हैं। कक्षाएं बारी-बारी से तथा आधे दिन के लिए ही लग रही हैं।

यह भी पढ़ें – जगन मोहन रेड्डी ने टाइम्स नेटवर्क को दी अपने नेताओं की छवि सुधारने की ज़िम्मेदारी

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular News

Recent Comments

English Hindi