Homeहलचलअन्वय नाइक सुसाइड केस: अर्णब की जमानत याचिका पर बॉम्बे हाईकोर्ट में...

अन्वय नाइक सुसाइड केस: अर्णब की जमानत याचिका पर बॉम्बे हाईकोर्ट में सुनवाई

मुम्बई। अन्वय नाइक सुसाइड केस में रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्णब गोस्वामी की जमानत याचिका पर आज बॉम्बे हाईकोर्ट में सुनवाई होगी। अर्णब गोस्वामी को मुंबई पुलिस की एक टीम ने रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्णब गोस्वामी को गिरफ्तार किया है। उनके खिलाफ आरोप है कि उन्होंने एक इंटीरियर डिजाइनर के पैसों का भुगतान नहीं किया, इससे परेशान होकर अन्वय नाइक सुसाइड के लिए मजबूर हुए। अर्णब दो अन्य मामलों में भी आरोपी हैं, फिलहाल उन्हे 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा गया है।

क्या है अन्वय नाइक सुसाइड केस

दरअसल 5 मई 2018 को महाराष्ट्र के रायगढ़ जिला स्थित अलीबाग में अन्वय नाइक ने सुसाइड कर लिया था। उनके साथ ही उनकी मां कुमुद नाइक भी घर पर मृत अवस्था में पाई गईं थीं। पुलिस को घर से जो सुसाइड नोट मिला, उसमें नाइक ने लिखा था कि वो और उनकी मां पैसों की तंगी से जूझ रहे थे। इसीलिए आखिर में उन्होंने खुदकुशी करने का फैसला किया। सुसाइड नोट में बताया गया था कि उनकी कंपनी कॉनकोर्ड डिजाइंस प्राइवेट लिमिटेड को उनकी तीन क्लाइंट्स ने काम के बाद बड़ी रकम देने से इनकार कर दिया।

इन तीनों क्लाइंट्स में अर्णब गोस्वामी (एआरजी आउटलियर/रिपब्लिक टीवी) को कंपनी के 83 लाख रुपये चुकाने थे। साथ ही नीतीश शारदा (स्मार्टवर्क्स) को 55 लाख रुपये और फिरोज शेख (स्काइमीडिया) को 4 करोड़ की पेमेंट करनी थी।

इस पूरे मामले को लेकर 2018 में मुंबई पुलिस के पास एक शिकायत दर्ज कराई गई थी। अन्वय नाइक की पत्नी अक्षता नाइक की शिकायत पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज की। इस दौरान नाइक की पत्नी ने आरोप लगाया था कि मुंबई में रिपब्लिक टीवी के ऑफिस का पूरा काम करने के बाद अर्णब गोस्वामी ने कॉन्ट्रैक्ट में लिखी अमाउंट को देने से साफ इनकार कर दिया था, जबकि काम पूरा हो चुका था। हालांकि अर्णब गोस्वामी इस आरोप से इन्कार करते हैं। उनका कहना है कि उन्होंने सारे पैसे दे दिये थे।

यह भी पढ़ें – अर्नब गोस्वामी को मुंबई पुलिस ने किया गिरफ्तार, भाजपा नेताओं ने की आपातकाल से तुलना

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular News

Recent Comments

English Hindi