Ravish Kumar

6 POSTS0 COMMENTS
सीनियर एग्जिक्यूटिव एडिटर, एन डी टी वी इंडिया सबसे मुश्किल काम है अपने बारे में लिखना । आपसे मेरा एक परिचय एक टीवी पत्रकार और एंकर का रहा है ।

पहले किसान भारत का होता था अब पंजाब का होने लगा है

दिल्ली, पंजाब, हरियाणा और यूपी के ही किसान आते थे। इन्हें किसान कहा जाता था। गोदी मीडिया ने फ़ूट डालने के लिए इन्हें पंजाब...

TRP को अपने हित में समझिए न कि चैनलों के युद्ध के हित में

TRP के नाम पर टेलिविज़न माध्यम के प्रभाव को ख़त्म किया। टीवी की ख़बरों का व्यापक और तुरंत असर होता था। चैनलों के मालिक...

यूपी में 5 साल तक संविदा नौकरी के प्रस्ताव से घबराने की कोई ज़रूरत नहीं है

अगर यह ख़बर सही है तो इस पर व्यापक बहस होनी चाहिए। अख़बार में छपी ख़बर के अनुसार उत्तर प्रदेश का कार्मिक विभाग यह...

Blog : क्या कड़े निर्णय के चक्कर में देश को गर्त में पहुँचा दिया प्रधानमंत्री मोदी ने ?

भारत के सामाजिक-राजनीतिक मानस में एक हीनग्रंथि है। कड़े निर्णय लेने और भाषणबाज़ नेता का कांप्लेक्स इतना गहरा है कि यह भारत गांधी जैसे...

‘क्या देश के बाकी उद्योगपतियों को बिजनेस करना नहीं आता ?’

एंडी मुखर्जी का एक विश्लेषण ब्लूमबर्ग न्यूज़ पर छपा है जिसका हिन्दी में सार संक्षेप दैनिक भास्कर ने छापा है. यह लेख बता रहा...

यूपी CM योगी आदित्यनाथ के नाम रवीश कुमार का खुला खत

रवीश कुमार -अभ्यर्थियों के इस पत्र को सत्यापित करने का कोई ज़रिया नहीं है. आप पत्र में लिखी बातों की जांच करा सकते हैं....

TOP AUTHORS

1 POSTS0 COMMENTS
0 POSTS0 COMMENTS
1 POSTS0 COMMENTS
133 POSTS0 COMMENTS
85 POSTS0 COMMENTS
6 POSTS0 COMMENTS
115 POSTS0 COMMENTS
0 POSTS0 COMMENTS
0 POSTS0 COMMENTS
1 POSTS0 COMMENTS

See More