Homeहलचलबिहार चुनाव: लोक जनशक्ति पार्टी अकेले चुनाव लड़ेगी, सरकार भाजपा के साथ...

बिहार चुनाव: लोक जनशक्ति पार्टी अकेले चुनाव लड़ेगी, सरकार भाजपा के साथ बनाएगी

पटना। रामविलास पासवान की पार्टी LJP यानी लोक जनशक्ति पार्टी बिहार में अकेले चुनाव लड़ेगी। चार अक्टूबर को लोजपा के केंद्रीय संसदीय बोर्ड की बैठक हुई। पार्टी के संस्थापक रामविलास पासवान तबीयत खराब होने की वजह से बैठक में शामिल नहीं हो पाए। उनकी सर्जरी हुई है, राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान बैठक में मौजूद थे। इसमें फैसला हुआ कि बिहार चुनाव में लोजपा अकेले लड़ेगी। नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू से मतभेदों के चलते ये फैसला लिया गया है। यानी अब LJP बिहार चुनाव में एनडीए गठबंधन का हिस्सा नहीं होगी।

लोक जनशक्ति पार्टी का क्या कहना है

लोक जनशक्ति पार्टी ने बयान जारी किया –

“राष्ट्रीय स्तर पर लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी और लोक जनशक्ति पार्टी का मजबूत गठबंधन है। राजकीय स्तर पर व विधानसभा चुनाव में गठबंधन में मौजूद जनता दल (यूनाइटेड) से वैचारिक मतभेदों के कारण बिहार में लोजपा ने गठबंधन से अलग चुनाव लड़ने का फैसला किया है।”

इसका मतलब हुआ कि लोक जनशक्ति पार्टी जेडीयू के खिलाफ हर सीट पर अपने उम्मीदवार उतारेगी. लेकिन साथ ही पार्टी ने चुनाव बाद के विकल्प खुले रखे हैं।

बयान में आगे लिखा है –

“लोकसभा में हमारा भाजपा के साथ एक मजबूत गठबंधन है। बिहार में भी हम चाहते थे कि वैसे ही चुनाव लड़ें। चुनाव परिणाम के उपरांत लोजपा के तमाम जीते हुए विधायक श्री नरेंद्र मोदी के विकास मार्ग के साथ रहकर भाजपा-लोजपा सरकार बनाएंगे।”

चिराग पासवान काफी समय से नीतीश कुमार के खिलाफ मुखर थे। कोविड-19 और प्रवासी श्रमिकों के मुद्दों को लेकर नीतीश के मैनेजमेंट पर भी उन्होंने सवाल उठाए थे। इस बीच मीडिया में आई ख़बरों के मुताबिक सीटों के बंटवारे को लेकर भी लोजपा संतुष्ट नहीं थी। कथित तौर पर लोजपा को 27 सीटें ऑफर हुई थीं। इन सब घटनाक्रम के बाद पार्टी ने गठबंधन से अलग होने का फैसला किया।

और कहाँ LJP-BJP गठबंधन है

इससे पहले मणिपुर में भी LJP इसी फॉर्मूले के तहत चुनाव लड़ चुकी है। 2017 में मणिपुर विधानसभा चुनाव में भी LJP ने बीजेपी से अलग होकर चुनाव लड़ा था और चुनाव बाद वह सरकार में शामिल हो गई थी। उनके विधायक को मुख्यमंत्री बीरेंद्र सिंह ने अपनी सरकार में मंत्री बनाया था।

माना जा रहा है कि बिहार विधानसभा चुनाव में बीजेपी और LJP के बीच फ्रेंडली फाइट हो सकती है। इससे पहले भी कई बार देखा गया है कि जो पार्टियां केंद्र में गठबंधन का हिस्सा होती हैं, वो विभिन्न राज्यों में एक दूसरे के खिलाफ चुनाव लड़ती हैं। झारखंड एवं मणिपुर में विधानसभा चुनाव में बीजेपी और LJP के बीच में कोई गठबंधन नहीं था। LJP ने इन चुनावों अपने उम्मीदवार उतारे थे, LJP आगे भी भविष्य में एनडीए का हिस्सा रहेगी। बिहार में तीन चरणों में मतदान होने हैं- 28 अक्टूबर, तीन नवंबर, सात नवंबर। 10 नवंबर को नतीजे आएंगे।

यह भी पढ़ें – राहुल गांधी ने किसानों से कहा, सत्ता में आते ही रद्द करेंगे काले कृषि कानून

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular News

Recent Comments

English Hindi