Homeहलचलचिराग पासवान ने जारी किया पार्टी का विज़न डॉक्यूमेंट ‘बिहार फर्स्ट बिहारी...

चिराग पासवान ने जारी किया पार्टी का विज़न डॉक्यूमेंट ‘बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट’

पटना। ‘बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट’ की घोषणा के साथ चिराग पासवान ने इसी शीर्षक से अपना विज़न डॉक्यूमेंट जारी कर दिया है।

लोकजनशक्ति पार्टी के मुखिया चिराग पासवान ने अपना विज़न डॉक्यूमेंट अपने पिता को समर्पित किया है। नाम के अनुरूप चिराग पासवान ने घोषणा पत्र में ‘बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट’ पर फोकस किया है। चिराग पासवान ने दावा किया है कि पार्टी के विजन डॉक्यूमेंट में लाखों लोगों के सुझाव शामिल किये गये हैं।

चिराग पासवान ने बताया कि उनका विजन डॉक्यूमेंट उनके पिता रामविलास पासवान ने अस्पताल में तैयार करवाया था। चिराग का कहना है कि उनके घोषणा पत्र में बिहार के हर जरूरी मुद्दे को शामिल किया गया है।

चिराग के विज़न डॉक्यूमेंट ‘बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट’ की खास बातें

चिराग के अनुसार यह उनके पिता रामविलास पासवान के 51 साल के राजनीतिक अनुभव से तैयार किया गया है।

  • प्रवासी मजदूरों के लिए बनाएंगे अलग मंत्रालय, जो मजदूर अलग राज्य में रहते हैं उनसे संपर्क रखा जाएगा
  • बिहार में नए मेडिकल कॉलेज, इंजीनियरिंग कॉलेज खोलने का वादा ताकि बिहारी युवा बाहर पढ़ने ना जाए
  • रोजगार का वादा

चिराग पासवान मौजूदा मुख्यमंत्री पर जमकर बरसे

अपने पिता राम विलास पासवान की मौत के बाद चिराग पहली बार पार्टी के हेड क्वॉर्टर पहुंचे थे। घोषणा पत्र जारी करने से पहले चिराग ने नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोला।

“अगर गलती से मौजूदा मुख्यमंत्री इस चुनाव में जीत जाते हैं, तो हमारा प्रदेश हार जाएगा। हमारा प्रदेश पुन: बर्बादी की कगार पर जाकर खड़ा हो जाएगा” – चिराग पासवान

चिराग पासवान ने नीतीश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि 15 साल से सत्ता में रहने के बाद भी वो नली-गली और खेत में पानी पहुंचाने का वादा कर रहे हैं।

जब यही करना था तो बीते 15 साल में क्या किया। बिहार में रोजगार के लिए क्या किया? बिहार को सशक्त करने के लिए क्या किया? आज की तारीख में विकास के हर मापदंड में देश के बाकी राज्यों के मुकाबले सबसे ज्यादा है। पलायन और बाढ जैसे मुद्दों के लिए कुछ नहीं किया गया।

पलायन और लॉकडाउन के दौरान लोगों का पैदल वापस आना इस बिहार चुनाव में एक बड़ा मुद्दा है, जिसे चिराग पासवान भुनाने के प्रयास में है। उनके विज़न डॉक्यूमेंट ‘बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट’ के मूल में मुख्यतः पलायन रोकने की कोशिश नज़र आती है। यानि, उनके वादे के अनुसार बिहारियों को वो सारी सुविधाएँ अपने ही राज्य में देंगे जिसके कारण वे बाहर जाते हैं।

यह भी पढ़ें – हाथ से ही पकड़ी जा सकती है लालटेन ! – सुभाषिनी यादव

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular News

Recent Comments

English Hindi