Homeहलचलमशहूर बिज़नेसमैन अनिल अंबानी मुसीबत में, बैंकों को चुकाने हैं करीब 5446...

मशहूर बिज़नेसमैन अनिल अंबानी मुसीबत में, बैंकों को चुकाने हैं करीब 5446 करोड़ रूपये

भारत के मशहूर बिज़नेसमैन अनिल अंबानी मुसीबत में हैं, पर लंदन की एक कोर्ट में मुकदमा चल रहा है। उन्हें चीन के तीन बैंकों को करीब 5446 करोड़ रुपए चुकाने हैं और इसी को लेकर मामला कोर्ट पहुंचा है। इसी मामले में 25 सितंबर को अनिल अंबानी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिये कोर्ट के सामने पेश हुए।

“मेरे पास अब कोई अधिक महत्व वाली संपत्ति नहीं बची है। मेरे खर्च मेरी पत्नी और बाकी परिवार मिलकर उठा रहा है।” – अनिल अंबानी

एक ख़बर के मुताबिक उन्होंने ये भी कहा कि केस में लग रहा पैसा भी वो बीवी के गहने बेचकर चुका रहे है। कहा कि उनकी लाइफस्टाइल काफी सादी है, किसी प्रकार का नशा नहीं करते, उनके पास महंगी-महंगी गाड़ियां भी नहीं हैं।

अनिल अंबानी मुसीबत में क्यों हैं

आइये देखते हैे कि अनिल अंबानी मुसीबत में क्यों हैं। दरअसल रिलायंस कॉम घाटे में है, इसके मालिक अनिल अंबानी पुराने लोन चुकाने को लेकर भी लगातार दबाव बढ़ रहा है। लोन चुकाने का ऐसा ही एक आदेश अनिल अंबानी को इस साल मई में लंदन की एक कोर्ट ने जारी किया था। कहा था कि चीन के तीन बैंकों को अनिल अंबानी 700 मिलियन डॉलर यानी 5446 करोड़ रुपए का भुगतान करें। कोर्ट ने पैसे चुकाने के लिए 21 दिन का समय दिया था। यह रकम बकाया लोन न चुकाने के मामले से जुड़ी है।

जज नाइजल टियरे ने 22 मई को यह आदेश दिया। इसमें कहा कि साल 2012 में अनिल अंबानी ने तीन चीनी बैंकों से रिलायंस कम्युनिकेशन लिमिटेड के लिए लोन लिया था, इसके लिए उन्होंने बैंकों को पर्सनल गारंटी दी थी।

कोर्ट ने कहा कि अनिल अंबानी को गारंटी का सम्मान करना होगा, गारंटी के तहत 5446 करोड़ रुपए चुकाने होंगे। साथ ही तीनों बैंकों की ये केस लड़ने में जो लीगल फीस लगी है, वो भी अनिल अंबानी को ही चुकानी होगी।

कोर्ट ने ही अनिल अंबानी से ये भी कहा था कि वे हलफनामा दाखिल करके बताएं कि उनके पास दुनिया में कहां-कहां, कितनी-कितनी प्रॉपर्टी है। इसी केस को लेकर अब हुई सुनवाई में अंबानी ने बताया है कि उनके पास इतने पैसे बचे ही नहीं हैं कि वो बैंक का लोन चुका सकें।

यह भी पढ़ें – सरकार ने कानून का उल्लंघन करते हुए जीएसटी मुआवजा उपकर को सीएफआई में ही रोके रखा: कैग

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular News

Recent Comments

English Hindi