Homeमजबूर भारतहाथरस बलात्कार कांड : भाजपा के दिलेर आरोपियों से जेल में मिले...

हाथरस बलात्कार कांड : भाजपा के दिलेर आरोपियों से जेल में मिले और पहलवान ने समर्थन में भीड़ जुटाई?

हाथरस/लखनऊ: हाथरस सामूहिक बलात्कार काण्ड से पूरा देश दहला हुआ है. विरोध प्रदर्शन की गर्मी बढ़ती ही जा रही है. लेकिन ऐसे में भी कुछ लोग कुछ ऐसा कर गुजरते है जो निंदनीय है. भाजपा सांसद राजवीर सिंह दिलेर जिला जेल में कथित सामूहिक बलात्कार के चार आरोपियों से मिलने के लिए पहुंच गए थे.

विपक्ष ने उनकी इस हरकत को निंदनीय बताया है. विपक्ष का मानना है कि एक जनप्रतिनिधि को ऐसे जघन्य कांड के अपराधियों से मुलाकात नहीं करनी चाहिए थी.

आपको बता दें कि युवती के भाई की शिकायत के आधार पर 20 वर्षीय संदीप, उसका 35 वर्षीय चाचा रवि, 23 वर्षीय लवकुश और 26 वर्षीय रामू पर  गैंगरेप और हत्या के प्रयास के अलावा अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारक अधिनियम) के तहत मामला दर्ज कर हिरासत में लिया गया है. ये चारों सवर्ण जाति के लोग युवती के ही गाँव के हैं.

सांसद दिलेर का जब कथित सामूहिक बलात्कार के चार आरोपियों से मिलने की बात का चौतरफा विरोध होने लगा तो दिलेर ने संवाददाताओं से कहा कि वे वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से मिलने गए थे, लेकिन वे कोरोना संक्रमित थे तो मुलाकात ना हो सकी तो वे वापस जाने के लिए बाहर आ गए. जेल के सामने ही समर्थक मिल गए, उनसे चर्चा चल ही रही थी कि जेलर ने उन्हें चाय पीने के लिये अपने कार्यालय में आमंत्रित किया तो वे चाय पीने चले गए. उनका कहना है की वे अपराधियों से मिलने नहीं गए थे.

दिलेर ने कहा कि वह किसी से मुलाकात करने नहीं गए थे और उन्हें किसी विवाद में अनावश्यक न घसीटा जाए.

कांग्रेस विधानमंडल दल की नेता आराधना मिश्रा ने कहा, ‘हाथरस कांड पर पूरी दुनिया की नजर है। ऐसे में हाथरस के सांसद का जेल परिसर में जाना कोई मामूली बात नहीं है। अगर वह आरोपियों से मिलने गए थे तो यह बेहद आपत्तिजनक है।’ उन्होंने कहा कि मौजूदा हालात में सांसद दिलेर को उस कारागार में नहीं जाना चाहिए था, जहां हाथरस कांड के आरोपी बंद हैं।

दूसरी ओर आरोपियों के समर्थन में भी प्रदर्शन हो रहे हैं. कथित तौर पर उच्च जातियों द्वारा विरोध प्रदर्शन और सभाएं हो रही हैं. चार अक्टूबर की सुबह हाथरस में भाजपा के एक नेता  राजवीर सिंह पहलवान के घर के पर आरोपियों के समर्थन में 500 लोगों की भीड़ जमा हुई थी. इन प्रदर्शनकारियों का कहना था कि चारों युवकों को जबरन फंसाया जा रहा है, उन्हें न्याय जरूर मिलना चाहिए.

यह भी पढ़ें…
हाथरस गैंगरेपः आरोपियों के समर्थन में उतरा ठाकुर समाज

यह भी उल्लेखनीय है कि क्षेत्र में धारा 144 लगी हुई है ऐसे में 500 लोगों की भीड़ जुटाना एक अपराध है. इस पर राजवीर सिंह पहलवान सभा उनके निजी स्थान पर आयोजित हुई, इसलिए प्रशासन से किसी तरह की अनुमति लेने की जरूरत नहीं थी.

इस बीच हाथरस के जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार द्वारा पीड़ित के पिता को कथित तौर पर धमकी देने का एक वीडियो भी सामने आया था, जिसके बाद मामले को लेकर पुलिस और प्रशासन की कार्यप्रणाली की आलोचना हो रही है.

यह भी पढ़ें…
हाथरस सामूहिक बलात्कार कांड: राहुल गाँधी, प्रियंका गाँधी का काफ़िला और पीड़ित पिता को DM की धमकी?

मामले की जांच अब सीबीआई को सौंप दी गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular News

Recent Comments

English Hindi