Homeमजबूर भारतमोदी सरकार ने 2019-20 में विज्ञापन पर प्रतिदिन खर्च किए 1.95 करोड़...

मोदी सरकार ने 2019-20 में विज्ञापन पर प्रतिदिन खर्च किए 1.95 करोड़ रुपए

दिल्ली: मोदी सरकार द्वारा पिछले एक वर्ष में किया गया विज्ञापन खर्च 713.20 करोड़ रूपये है, वर्तमान आर्थिक बदहाली, गिरती जीडीपी दर को देखते हुए फिजूलखर्ची उन पर लगातार उँगलियाँ उठती रही हैं। केंद्र सरकार ने अखबार, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, होर्डिंग इत्यादि के माध्यम से खुद के प्रचार के लिए यह खर्च किया है। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से आरटीआई के तहत प्राप्त सूचना के मुताबिक़ यह पिछले वर्ष यानि 2019 का व्यय है।

सूचना के अधिकार से सामने आया सारा ब्यौरा

कार्यकर्ता जतिन देसाई द्वारा दायर एक सूचना का अधिकार (आरटीआई) आवेदन के जवाब में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के विभाग ब्यूरो ऑफ आउटरीच एंड कम्युनिकेशन ने इस संबंध में जानकारी दी है। केंद्र सरकार द्वारा 2019-20 के दौरान विज्ञापन खर्च औसतन प्रति दिन 1.95 करोड़ रुपये रहा है। ब्यूरो ने बताया कि इसमें से 295.05 करोड़ रुपये प्रिंट, 317.05 करोड़ रुपये इलेक्ट्रॉनिक मीडिया और 101.10 करोड़ रुपये आउटडोर विज्ञापन पर खर्च किए गए हैं। विभाग ये बताने में असमर्थ रहा कि सरकार ने विदेशी मीडिया में विज्ञापन देने में कितने रुपये खर्च किए हैं।

यूपीए के 10 साल विरुद्ध एनडीए के 6 साल, एनडीए का विज्ञापन खर्च ज्यादा

जून, 2019 में मुंबई स्थित आरटीआई कार्यकर्ता अनिल गलगली द्वारा दायर आवेदन के जवाब में मंत्रालय ने बताया था कि प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक, आउटडोर मीडिया में विज्ञापन देने में 3,767.26 करोड़ रुपये खर्च किए गए।

इससे एक साल पहले गलगली के एक अन्य आरटीआई आवेदन पर मंत्रालय ने मई, 2018 में बताया था कि मोदी सरकार ने जून 2014 से लेकर 2018 तक मोदी सरकार ने अपने प्रचार प्रसार में 4,343.26 करोड़ रुपये व्यय किये थे।

द वायर ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया था कि यूपीए सरकार के मुकाबले मोदी सरकार में विज्ञापन पर दोगुनी राशि खर्च की गई है। लोकसभा में तत्कालीन सूचना एवं प्रसारण राज्यमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने बताया था कि केंद्र सरकार ने साल 2014 से लेकर सात दिसंबर 2018 तक में सरकारी योजनाओं के प्रचार प्रसार में कुल 5245.73 करोड़ रुपये की राशि खर्च की है। यह यूपीए सरकार के दस साल में खर्च हुए कुल 5,040 करोड़ रुपये की राशि से भी ज्यादा थी।

यह भी पढ़ें – धान खरीदी का लक्ष्य बढ़ाकर 85 लाख मीट्रिक टन किया छत्तीसगढ़ सरकार ने

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular News

Recent Comments

English Hindi