Homeमजबूर भारतकमलनाथ ने एक महिला उम्मीदवार के लिए “आइटम” शब्द कहा, हुआ चौतरफा...

कमलनाथ ने एक महिला उम्मीदवार के लिए “आइटम” शब्द कहा, हुआ चौतरफा विरोध

भारत के यूथ अफेयर्स एंड स्पोर्ट्स मिनिस्टर किरण रिजीजू ने एक ट्विट करके लिखा…

“कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने ना सिर्फ दलित महिला उम्मीदवार को ‘आइटम’ कहा है बल्कि त्रिपुरा और मिजोरम को छोटा-सा महत्वहीन राज्य कहा. लेकिन झूठे महिलावादी योद्धाओं की ओर से इस अशोभनीय वक्तव्य के लिए कोई गुस्सा नहीं नज़र आ रहा है.”

इस ट्विट के साथ जुड़े विडियो में एक महिला उम्मीदवार के लिए कथित रूप से टिप्पणी कर रहे हैं…

सुरेंद्र राजेश हमारे उम्मीदवार हैं, सरल स्वभाव के सीधे साधे हैं. ये उसके जैसे नहीं है, क्या है उसका नाम? मैं क्या उसका नाम लूं आप तो उसको मुझसे ज्यादा अच्छे से जानते हैं, आपको तो मुझे पहले ही सावधान कर देना चाहिए था, ‘यह क्या आइटम है.

यह महिला कौन है जिनके बारे में यह वक्तव्य बताया जा रहा है?

मध्य प्रदेश के दतिया जिले से है इमरती देवी. पेशे से किसान हैं. वर्ष 2008 में विधानसभा सभा सदस्य बनी थीं. 2011 तक पुस्तकालय समिति की सदस्य रहीं. उसके बाद महिला और बाल विकास समिति की सदस्य थीं.  इमरती देवी ग्वालियर जिले के डबरा विधानसभा क्षेत्र से 2 बार विधायक निर्वाचित हुईं. वर्ष 2013 और 2018 में.  साथ ही अनुसूचित जाति/जनजाति हित रक्षा संघ के संरक्षक के रूप में उन्होंने कार्य किया है.

वर्ष 2018 में इमरती देवी ने कैबिनेट में मंत्री पद भी संभाला. बाद में वे शिवराज सरकार में भी मंत्रीपद हासिल किया. ज्योतिरादित्य सिंधिया ने जब कांग्रेस से किनारा किया और बीजेपी में आये तब इमरती देवी ने कहा था, ‘सिंधिया कुएं में गिरेंगे तो हम भी साथ में गिरेंगे.’

बहुजन समाज पार्टी की नेता मायावती ने इस बयान को अपमानजनक बताया और कहा –

मध्यप्रदेश में ग्वालियर की डाबरा रिजर्व विधानसभा सीट पर  उपचुनाव लड़ रही दलित महिला के बारे में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व सीएम द्वारा की गई घोर महिला-विरोधी अभद्र टिप्पणी अति-शर्मनाक व अति-निन्दनीय। इसका संज्ञान लेकर कांग्रेस आलाकमान को सार्वजनिक तौर पर माफी माँगनी चाहिए।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बाकायदा मौन उपवास शुरू कर दिया है. उन्होंने एक ट्विट करते हुआ इस बारे में अपने विचार भी लिखे…

यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवताः
जहाँ नारी की पूजा होती है, वहीं देवताओं का वास होता है। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने कल एक महिला के लिए जिन शब्दों का इस्तेमाल किया, उससे मैं आहत हूँ, शर्मिंदा हूँ।
आज बापू के चरणों में उनके लिए प्रायश्चित करने हेतु बैठा हूँ।

इधर, कांग्रेस से हाल में निकले जोतिरादित्य सिंधिया ने भी अपना विरोध दर्ज कराया… उन्होंने ट्विट किया जिसमे वे इस घटना पर अपने विचार प्रकट करते हुए दिखाई दे रहें है… उन्होंने कहा –

मैं कांग्रेस नेताओं के महिला विरोधी बयान से स्तब्ध हूँ। मध्य प्रदेश सरकारी कैबिनेट मंत्री श्री इमरती देवी जी के खिलाफ कल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ जी ने अपशब्दों का प्रयोग कर अपनी दलित महिला विरोधी मानसिकता का परिचय दिया है।

अपने इस बयान पर सफाई देते हुए कमलनाथ ने कहा-

शिवराज जी आप कह रहे हैं कमलनाथ ने आइटम कहा. हां, मैंने आइटम कहा है क्योंकि यह कोई गलत शब्द नहीं है. लोकसभा और विधानसभा में कार्यसूची को आइटम नंबर लिखा जाता है, क्या यह गलत है?”

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular News

Recent Comments

English Hindi