Homeहलचलजिस गठबंधन में शिवसेना और अकाली दल नहीं हैं, वह एनडीए नहीं-...

जिस गठबंधन में शिवसेना और अकाली दल नहीं हैं, वह एनडीए नहीं- शिवसेना नेता संजय राउत

किसान आंदोलन के चलते, अकाली शिरोमणि दल ने एनडीए से पल्ला झाड़ लिया। और शिव सेना जो कभी एनडीए की सहयोगी थी कभी की अलग हो चुकी है। उस पर रिश्तों मे खटास बढ़ी सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच को लेकर। फिर करेले जैसे कड़वे हो चुके रिश्ते में नीम चढ़ाने का काम हुआ कंगना रनौत के मसले को लेकर।

अब शिवसेना नेता संजय राउत ने नया बयान जारी किया है कि जिस गठबंधन में शिवसेना और अकाली दल नहीं हैं, वे उसे एनडीए नहीं मानते.

राउत के अनुसार एनडीए के मजबूत दो मजबूत स्तंभ थे शिवसेना और शिरोमणि अकाली दल. शिवसेना को मजबूरन एनडीए गतबंधन को छोड़ना पड़ा और अब अकाली दल ने भी एनडीए से रिश्ता तोड़ दिया है।

उन्होंने कहा कि जिस गठबंधन में शिवसेना और शिरोमणि अकाली दल शामिल नहीं है, उसे वे एनडीए नहीं मानते।

याद दिल दें कि अकाली दल की केंद्रीय मंत्री ने किसान आंदोलन के कारण केंदीय मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। फिर बीते शनिवार को शिरोमणि अकाली दल बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए गठबंधन को छोड़ दिया.

पिछले दिनों संजय राउत और  महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेन्द्र फडणवीस की मुलाकात हुई। इस मुलाकात ने राजनीतिक गलियारों में चर्चाओं को हवा दे दी। सब इस बात को लेकर हैरान है कि आखिर इस मुलाकात का सबब क्या है?

फिर कई कारणों पर चर्चा हुई कि शायद मुद्दा कोरोना से संबंधित हो, क्योंकि देवेन्द्र फडणवीस कई बार महाराष्ट्र सरकार के सामने कोरोना टेस्टिंग प्रक्रिया में सुधार के लिए आवाज उठाते रहे है। लेकिन आमने-सामने कि मुलाकात नहीं हुई थी। महाराष्ट्र में शिवसेना की सरकार आने के बाद यह पहला मौका है जब दोनों की मुलाकात हुई है।

दरअसल,  “सामना” के संपादक के नाते संजय राउत बिहार चुनाव के विषय पर देवेन्द्र फडणवीस का इंटरव्यू करना चाहते थे शायद इसलिए यह मुलाकात आयोजित हुई।

संजय राउत ने रविवार को कहा कि देवेन्द्र महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री हैं उनसे कुछ मुद्दों पर बातचीत के लिए यह मीटिंग की गई थी। उन्होंने कहा की यह मीटिंग छुपे तौर किसी बंकर में नहीं बल्कि सबकी जानकारी में, खुले मे हुई है। इसका राजनैतिक मतलब नहीं निकाला जाना चाहिए।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular News

Recent Comments

English Hindi