Homeहलचलऑपरेशन दुराचारी के तहत यौन अपराधियों के चेहरे पोस्टरों पर होंगे उजागर

ऑपरेशन दुराचारी के तहत यौन अपराधियों के चेहरे पोस्टरों पर होंगे उजागर

लखनऊ: देश भर में बढती बलात्कार की घटनाओं से जनता त्रस्त है. इन यौन अपराधों से दुनिया भर में भारत की छवि भी बिगड़ी है. ऐसे में यह बेहद ज़रूरी है कि ठोस कदम उठाए जाएं ताकि बलात्कारियों में कानून का खौफ़ हो और बेटियां व महिलाएं सुरक्षित हों.

तो यह खबर दुसरे राज्यों के लिए भी प्रेरक हो सकती है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मुद्दे पर कमर कस ली है. महिलाओं के खिलाफ लगातार बढ़ते यौन अपराधों के प्रकरणों को देखते हुए योगी आदित्यनाथ ने अपने राज्य के आला अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि बच्चियों के साथ रेप, छेड़खानी या यौन अपराध करने वाले अपराधियों के पोस्टर चौराहों पर लगाए जाएं. इस मिशन को उन्होंने बाकायदा नाम दिया है ‘ऑपरेशन दुराचारी’ है.

तो उत्तरप्रदेश में ‘ऑपरेशन दुरचारी’ को चालू करने के निर्देश जारी हो चुके हैं. अफसरों को निर्देश दिए गए हैं कि महिलाओं के खिलाफ किये गए अपराधों के पोस्टर चौक-चौराहे पर चिपकाये जाएंगे. साथ ही महिलाओं का उत्पीड़न करने वाले आदतन अपराधियों के चेहरे भी आम किये जाएंगे. हालांकि यह भी साफ़ तौर पर कहा गया है कि इन पोस्टरों पर मात्र दोषी साबित हो चुके अपराधियों के चेहरे ही छापे जाएंगे.

योगी ने अपने निर्देशों में यह भी कहा है कि महिलाओं के यौन उत्पीड़न में मदद करने वाले लोगों के नामों का भी खुलासा किया जायेगा. ऐसा करने से बदनामी के डर से लोग इन अपराधों में सहायता करने से बचेंगे.

महिलाओं के खिलाफ़ यौन अपराधों में पुलिस की निष्क्रियता भी बहुत बड़ी समस्या है. इसको ध्यान में रखते हुए आदित्यनाथ ने पुलिस विभाग के लिए भी निर्देश दिए हैं. मुख्यमंत्री ने अपने निर्देशों में कहा है कि यदि महिलाओं के खिलाफ़ अपराध होता है तो सम्बंधित प्रकरण का इंचार्ज, पुलिस चौकी इंचार्ज, थाना प्रभारी, सीओ आदि सभी जिम्मेदार होंगे. किसी भी प्रकार की लापरवाही होने पर इन सभी की जिम्मेदारी तय कर कार्यवाई की जाएगी.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular News

Recent Comments

English Hindi